हिन्दी ब्लॉग Google AdSense Approval पाने के लिए Top 10 Tips




गूगल adsense approval के लिए ये टॉप 10 टिप्स को फॉलो करने पर आपका adsense जरुर approve हो जायेगा.

Google Adsense Approval ke liye Top Tips

हेल्लो, ब्लॉगर जब भी हम ब्लॉग बनाते है तब हर किसी की यही तमन्ना होती है की, मेरी साईट के लिए adesense approve हो जाये और साईट से पैसे कमाए.
आज में आपको गूगल adsense approval करने के लिए कुछ टिप्स बताने जा रहा हु. जिसे फॉलो करने पर आपका adsense जरुर approve हो जायेगा.
इंडिया में approval पाना वैसे तो बहुत मुश्किल माना जाता है, क्यों की एशियाई contry के लिए adesense के रूल बेहत स्ट्रिक्ट है, क्यों की हमारे यहाँ बहुत सारे फर्जी लोग, ज्यादा इनकम पाने के चक्कर में illegal ways का use करते है. इसलिए गूगल की टर्म्स एंड condtion को ही फॉलो करके ही हम adsense approval पा सकते है.
इसलिए इस पोस्ट में आपको adsense के रूल्स के बारे में बताऊंगा जिससे आपको approval मिल सके.

१. Adsense कौन कौन सी language को सपोर्ट करता है?
कई लोगो को ये पता नहीं होता की adsense कौन कौन सी भाषा को सपोर्ट करता है.
आम तौर पर ज्यादा तर लोग इंग्लिश language का use करते है. क्यों की इंग्लिश एक यूनिवर्सल language है, जो पुरे वर्ल्ड में बोली, और समजी जाती है.
लेकिन हाल ही में adsense ने हिन्दी language को भी सपोर्ट करना शुरू कर दिया है. तो अब आप हिन्दी, इंग्लिश इन किस भी भाषा में ब्लॉग, वेबसाइट बना सकते है.
और कौन कौन सी भाषा के लिए adsense supprot करता है आप ये यहाँ से देख सकते है.


२. वेबसाइट में निचे दिए गए  page होना  जरुरी है
अब ब्लॉग बनाने के बाद बात आती है उसमे कौन कौन से page होने जरुरी है, तो मै आपको बता देने चाहता हु की आपकी साईट में about us, contact us, privacy policy ये page होने ही चाहिए इसके बिना आपका adsense approve होनी होगा.
ये इसलिए जरुरी होते है ताकि की जो आपके वेबसाइट विजिटर है, वो आपके बारे में, जान सके , आपसे contact कर सके. और आप अपने विजिटर की कौन सी इनफार्मेशन use करते हो ये आपको privacy में बताना पड़ता है.


३. अच्छी डिजाईन , nevigation, responsive टेम्पलेट:
फिर बात आती है, वेबसाइट डिजाईन की , आपकी वेबसाइट जितनी अच्छी डिजाईन की गयी होगी उतने ज्यादा विजिटर आपके साईट में आयेंगे. क्यों की जो रीडर होते है , वो आपकी साईट डिजाईन को देखकर ही दोबारा आपकी साईट पर विजिट करेंगे  या नहीं ये depend होता है.
क्लियर nevigation हो याने मेनू में सभी page की लिंक ठीक तरह से ऐड करे. ताकि विजिटर को आपकी साईट पे किसी भी page को विजिट करने में कोई दिक्कत न आये.
ब्लॉग का टेम्पलेट responsive हो, याने कंप्यूटर, और मोबाइल में सही तरह से ओपन हो.


४. कितने विजिटर डेली आने चाहिए
जब आप साईट बनाते है तो कई लोग बहुत ही जल्दबाजी करते है, साईट बनायीं नहीं की किया adsense के लिए अप्लाई नतीजा  disapprove हो जाता है.
साईट बनाए के बाद डेली कुछ unique और अच्छी पोस्ट डालते रहे. seo को फॉलो करे. आपके साईट पर search engine से origanic traffic लाने की कोशिस करे. जब आपके साईट के लिए search enigne से डेली ५००+ visitor आये तब आप apply करे.
    

५. कितने आर्टिकल, पोस्ट होने चाहिए
वैसे तो इसे हम accurately कैलकुलेट नहीं कर सकते की इतनी पोस्ट होनी चाहिए. लेकिन हा, ये निर्भर करता है आपके पोस्ट length, पोस्ट क्वालिटी पे.
आपकी वेबसाइट पे  कम से कम  50+ ओरिजिनल और unique पोस्ट होनी जरुरी है. पोस्ट जो है वो कम से कम 700 से 1000 वर्ड की होनी चाहिए. अगर कोई पोस्ट 500 वर्ड की होगी तो भी चलेगा. 



६. कॉपी, पेस्ट न करे
कई सारे न्यू ब्लॉगर इसी चक्कर में होते है की किस पोपुलर ब्लॉग से टॉप आर्टिकल को कॉपी करे और अपनी साईट पे डाले. लेकिन उनको ये मालूम नहीं होता है की गूगल इस तरह के कंटेंट को बहुत जल्द पहचानं लेता है.
इसलिए साईट पे जो भी डालना है वो 100 % ओरिजिनल होना जरूरी है. आप चाहो तो wikipedia जैसी साईट पर जेक रीड करके आप अपनी भाषा में अपने शब्दों में पब्लिश कर सकते है.


७. Adsense Terms & Condition को फॉलो करे:
मैंने ऊपर भी बताया है की इंडिया में adsense की T&C बहुत ही स्ट्रिक्ट है, इसलिए हमे गूगल adsense policy का सम्मान करना होगा और use फॉलो करना पड़ेगा तभी आपका अकाउंट approve हो सकता है. तो आप adsense की T&C को एक बार जरुर रीड करे.

८. कौन से कंटेंट ब्लॉग पे डाल सकते है?
हमे ये भी पता होना चाहिए की कौन से कंटेंट हम पब्लिश कर सकते है और कौन से नहीं. हम अपने साईट पे blogging, make money, internet tips, technology, samajik janakari, kisi bhi educational topic par tutorial, news, latest technology, kisi bhi topic ki help ke bare me, motivational आर्टिकल डाल सकते है. टॉपिक चॉइस करते समय ये दयां रखे की us टॉपिक के seraches हो.
अब किस तरह के आर्टिकल पब्लिश नहीं कर सकते आप गैंबलिंग , हैकिंग, प्रोनोग्रफिक कंटेंट, इस तरह के टॉपिक पे ब्लॉग नहीं बना सकते. अगर आप बना भी ले तो adsense एसे ब्लॉग के लिए आपको approval नहीं देगा.


९. साईट कितनी पुरानी होनी जरुरी है?
वेबसाइट बनाते है, आप फ़ौरन apply नहीं कर सकते, इंडिया में हम वेबसाइट 6 month की होने के बाद ही apply कर सकते है. लेकिन अगर आपके साईट पे ओरिजिनल कंटेंट हो,
अगर आपको search engine से अच्छी traffic मिल रही हो तो आप ३-४ month के बाद भी apply कर सकते है.

10. Traffic बदने के चक्कर में illegal वे का use ना करे:
काफी सारे लोग अच्छे आर्टिकल डालते है, लेकिन बाद में गलती करते है, वो ब्लॉग traffic बदने के चक्कर में कुछ गलत रस्ते अपनाते है, जैसे कही से paid traffic का use करना ये एक black hat Seo का हिस्सा है.
उदहारण के तौर पर किसी PTC साईट पर अपनी साईट का प्रमोशन करना. वहा पे आपको $2 ने 2000-5000 विजिटर मिलते है, लेकिन एसा करना गूगल adsense की policy के खिलाफ है. एसा करके आपको कुछ फायदा तो नहीं मिलता लेकिन,  इसके नुकसान उठाने पड़ते है. इसलिए जितना हो सकते ओरिजिनल रहने की कोशिश करे.

इन टिप्स को फॉलो करने से आपके adsense approval के 99% chances है. इसके अलावा आपको और भी फैक्टर को ध्यान में रखना पड़ता है, जैसे SEO फॉलो करना, Robots.txt का use सही तरह से करना  etc.

अगर इसके अलवा आपके कुछ प्रॉब्लम हो तो कमेंट में जरुर बताये.

Author:

Professional Bloggger and Author of Hindimeearn.com Completed Master Degree in Computer Science.Passionate about Blogging,Make Money and Web-Designing.Best Knowledge of HTML,PHP,.NET,C,C++ and other programming languages. Know More About Me...

Follow Us :


Related Posts
Previous
« Prev Post

5 comments

7 August 2016 at 23:52

Robot.txt ka use kaise karte blog me mera 400+ url block kiya hai usne

Reply
avatar
8 August 2016 at 04:00

Aap apne blog ke liche footer me contact us privacy policy ye sab niche Kaise banaya

Reply
avatar
8 August 2016 at 04:12

# Vivek Maine Iske Bare Me Ek Post Ribbon template ke bare me usme maine bataya hai Ki Footer Edit Kaise Kare Wo aap read Karo.

Reply
avatar