English बोलना कैसे सीखे

English Bolana Kaise Sikhe? मुझे इंग्लिश बोलना सीखना है? English सिखने के लिए क्या कोई कोर्स करना होगा? इन जैसे कई सवाल आपके मन में भी रोज आते होंगे.

English बोलना कैसे सीखे?

जब हम किसी वक्ती, अपने फ्रेंड्स को इंग्लिश बोलते हुए देखते है तो हम भी सोचते है की काश में भी english बोल पाता.
तो चलिए आज मै आपको कुछ टिप्स बताऊंगा जिससे आप इंग्लिश बोलना सिख पाएंगे.
हम सबको कम से कम 3 भाषाए आनी जरुरी है. जिसके पहली भाषा है हमारी राज्य की भाषा आप जिस किसी राज्य में रहते है वहां की भाषा आनी जरुरी है.


दुसरी वाली है हमारी इंडिया में बोली जाने वाली हिन्दी. हिन्दी भाषा इंडिया में किसी भी स्टेट में बोली और समजी जाती है.
और तीसरी और मह्त्र्वपूर्ण भाषा है english. इंग्लिश इंटरनेशनल लैंग्वेज है जो पुरे देश में कही भी बोली और समजी जाती है. इंग्लिश बोलने वालो लोगो को अलग ही नज़रिए से देखा जाता है. इसलिए हमे इंग्लिश बोलना, लिखना, और पढ़ना आनी जरुरी है.

हम कई जगह पर इंग्लिश के बारे advertisement देखते है की हमारे यहाँ आप 30 दिन में इंग्लिश बोलना सिख जाएंगे. लेकिन क्या आपको सच में लगता है की हम 30 दिन या 15 दिन में अंग्रेजी बोलना सिख पाएंगे. इसका जवाब आपको खुद ब खुद मिल जाएगा.
इंग्लिश सिखने के लिए हमे काफी मेहनत करनी पड़ती है, साथ में हमारी डेली लाइफ में भी कुछ बदलाव लाने पड़ते है.

एक उदाहरण से आप समज जाएंगे की डेली लाइफ में बदलाव लेन क्यों जरुरी है.
जो शहर में रहने वाले स्टूडेंट होते है वो बहुत अच्छी इंग्लिश बोलते है एसा क्यों? क्यों की उनका जो स्कूल मीडियम होता है वो आम तौर पर इंग्लिश होता है और उनके घर में, आस पास इंग्लिश का ही environment होता है इससे वो easily इंग्लिश बोल पाते है.

लेकिन आप भी इंग्लिश बोलना सिख सकते है. उसको लिए आपको कुछ टिप्स को फॉलो करना है. जिससे आपको इंग्लिश में जरुर सुधार आएगा.

इंग्लिश सीखना क्यों जरुरी है ?

अब हमारे मन में ये सवाल आएगा की आखीर इंग्लिश सीखना इतना जरुरी क्यों है , जब की मुझे हिंदी अच्छे से आती है.
तो चलिए इसके बारे में थोड़ी सी चर्चा कर लेते है. हिंदी भाषा सिर्फ हमारे इंडिया तक ही लिमिटेड है. जब की इंग्लिश को पुरे वर्ल्ड में कही भी बोला, लिखा, समजा जाता है.

इंग्लिश सिखने के फायदे:

1. अगर आपको कुछ इनफार्मेशन की जरुरत है तो आप इन्टरनेट से इनफार्मेशन प्राप्त कर सकते है जब की इन्टरनेट पर सबसे ज्यादा जो इनफार्मेशन है वो इंग्लिश में मौजूद है.

2. अगर आप अच्छा जॉब पाना चाहते है तो आपको इंग्लिश 100% आनी जरुरी है.

3. दुनिया की किसी भी लोगो से कांटेक्ट, बात करने के लिए.


4. अगर आपका कोई बिज़नस है तो आपको इंग्लिश की जरुरत होगी क्यों की अगर कोई customer सिर्फ इंग्लिश जानता हो तो आपको उसको फेस करने केलिए ये जरुरी है.

5. दुसरे लोगो पर एक अच्छा इम्प्रैशन पड़ेगा.

English सीखेने के लिए टिप्स:

1. अपना शब्दकोष बढाए:

सबसे पहले वाली टिप्स है अपना शब्दकोश का ज्ञान बढ़ाना. याने इंग्लिश बोलने के लिए, समजने के लिए हमे इंग्लिश शब्द का meaning पता होना जरुरी है तभी हम समज पाएंगे या बोल पाएंगे. इसलिए हमें  पहला जो काम करना है वो है, हमारी रोज़ मर्रा की लाइफ में इस्तमाल होने वाले शब्दों का meaning समजना है.
याने हम डेली लाइफ में जो शब्द इस्तमाल करते है उनका मीनिंग इन्टरनेट, या डिक्शनरी में ढूढकर समज ले.
उदाहरण:
night – रात
morning – सुभाह
डेली कम से कम 5 शब्दों का मीनिंग पता लगाकर उनको याद कर ले. इस तरह आप महीने ने 5*30=150. 150 शब्द आप सिख जाएंगे ये दिन क्रम आपको शुरू रखना है.

2. इंग्लिश से लगाव बढाए:

हम पता है की इंग्लिश सीखना है लेकिन इसके लिए हमे इंग्लिश से ही सम्पर्क बढ़ाना है.
याने हम कुछ एसी चीज़े करनी है जिसमे हमारा 100% रूचि होती है.
जैसे हम जभ की movie देखते है तो हमारा पूरा 100%  concentration होता है. इसकी का फायदा हमे लेना है.
इंग्लिश सिखने के लिए ये एक अच्छा तरीका है की हमे English मूवी देखनी है. हॉलीवुड की बहुत सी अच्छी मूवी है वो सभी इंग्लिश में होती है तो उनको देखना है.
पहले पहले हमे उस मूवी में कुछ भी समज में नहीं आएगा लेकिन बाद में हम थोडा थोडा समज आने लग जाएगा.
इसी प्रकार इंग्लिश newspaper, magazine, पढ़ने चाहिए.

3. अपने दोस्तों के साथ इंग्लिश में बात करे :

हमारे जो दोस्त होते है उनसे से कई दोस्तों अच्छी इंग्लिश बोलने वाले भी होते है. तो हमे क्या करना है अपने उन दोस्तों के साथ इंग्लिश में बोलना चाहिए आपको जैसी भी इंग्लिश आती हो उसमे में आपको उससे बात करनी है, आप जहा जहा गलती करेंगे आपका दोस्त आपको वहां पर समजा देगा.

4. शर्माना बंद करे :
कई एसे लोग है जिनको इंग्लिश अच्छे से समज में आती है वो इंग्लिश को ठीक तरह से पढ़ते है, समजते है लेकिन बोल नहीं पाते है.
वो सोचते है की अरे यार मुझे इंग्लिश नहीं आती है इसलिए अगर मै इंग्लिश में बोलूँगा तो लोग मुझपर हसेंगे.
तो इसको हमे सबसे पहले अपने अंदर से बाहर निकलना है. की लोग क्या कहेंगे?

5. सोशल नेटवर्किंग साईट का इस्तमाल करे :

आज सभी के पास फेसबुक, whats अप्प है. जिसका हम सब लोग इस्तमाल करते है. इंग्लिश सिखने के लिए हमे इनका इस्तमाल करना है.

फेसबुक पर हमे दुसरे कंट्री के लोगो को फ्रेंड्स बनाना है, इस तरह के ग्रुप ज्वाइन करने है जिसमे फोरेनर लोग हो.
वहा पर जाकर उनकी पोस्ट को पढ़े समजे, हमे जैसे भी इंग्लिश आती है उसी प्रकार वहां पर कमेंट करे. उनसे चैट करे. इससे हमे समज में आएगा की आगे वाला वक्ती हमारी इंग्लिश को समाज पा रहा है या नहीं.

6. इंग्लिश वाले मौहोल में रहने की कोशीस करे :

एसे मोहोल में रहने की कोशिस करे जहा पर लोग इंग्लिश में बात करते हो. अपने दोस्तों के साथ इंग्लिश में बात करे.

7. खुद से ही इंग्लिश में प्रश्न पूछे और उनका जवाब पाने की कोशिस करे:

जब आपको थोड़ी थोड़ी इंग्लिश आने लगे तब आपको क्या करना है खुद को ही क्वेश्चन पुचने है.
और उसका जवाब भी इंग्लिश में ही देने की कोशिस करना है.

मान लो की अगर आपको कोई पूछेगा की how are you? तो आप इसका जवाब क्या देंगे. इस जैसे सवाल खुद को पूछे और उनका क्या जवाब आपको देना है वो भी पता करे.

8. दूसरो को observe करो और सीखो :

दूसरो को observe करना और सीखना ये भी बेहतर तरीका है इंग्लिश सिखने का.
अगर आपको इंग्लिश नहीं आती है तो आपके जो दोस्त है जिनको इंग्लिश आती है उनको observe करना है.
याने मान लीजिए आपके दो दोस्त इंग्लिश में बात कर रहे है.
पहला वाला : how are you?
दूसरा वाला : fine.
आपको इन दोनों को देखना है और याद रखना है की पहले वाले दोस्त ने जो पूछा उसका जवाब उस दोस्त ने कैसे दिया है.
अब जब भी आपसे कोई  ये क्वेश्चन पूछे तो आपको भी इसी प्रकार का जवाब देना है.

तो इन टिप्स को फॉलो करके आप इंग्लिश सिख सकते है. इंग्लिश एक दिन में तो कोई नहीं सिख सकता है , इसलिए हमे थोडा सब्र करना है. इन टिप्स को रेगुलर इस्तमाल करते रहना है 2-4 महीनो में आपको बहुत सी इम्पोर्वेमेंट आपमें नज़र आ जाएगी.

Author:

Professional Bloggger and Author of Hindimeearn.com Completed Master Degree in Computer Science.Passionate about Blogging,Make Money and Web-Designing.Best Knowledge of HTML,PHP,.NET,C,C++ and other programming languages. Know More About Me...

Follow Us :


Related Posts
Previous
« Prev Post