एमसीए Course के बाद क्या करे? MCA Question, Answers

एमसीए Course के बाद क्या करे? MCA Question, Answers

Can I do MCA after B.A, Can I do mca after B.sc(general), MCA after commerce, mca after PCM subjects इन जैसे कई सवालो के जवाब हम आपको इस आर्टिकल में देने वाले है.

MCA Question, Answers

क्यों की कई स्टूडेंट एसे है जो एम्.सी.ए. के क्राइटेरिया को ठीक से समज नहीं पाते है. तो इस लिए इस आर्टिकल में उनको इन जैसे कई सवालो के जवाब देने जा रहे है.

इससे पहले वाले आर्टिकल में हम ने देखा था MCA क्या है? तो इस्ससे जुड़े कुछ सवाल और उनके जवाब :

Can I do MCA after B.A-बी.ए. के बाद एम्.सी.ए. कर सकते है?

आर्ट फैकल्टी से जो लोक होते है वो भी mca करने के चाह मन में रखते है. अभी कई यूनिवर्सिटी है जिनका क्राइटेरिया है कुछ इस तरह है.
Graduation (any field) – 55%
12th (math/statistics) any field -50%
MCA CET

इसका मतलब है आप BA के बाद mca कर सकते है, लेकिन बिना programming background के आप डायरेक्ट mca मत करिए. क्यों की mca एक पोस्ट ग्रेजुएशन का कोर्स है जिसमे हमे deep स्टडी होती है, आपका सिलेबस इस प्रकार से डिजाईन किया गया होता है जिसमे आपको बेसिक आता है ये समजकर deep में सिलेबस होता है.
अगर आपका ग्रेजुएशन कंप्यूटर फील्ड से BCA, Bsc(CS), BSc(IT) से करते है तो mca आपको आसन हो जाता है.

Can I do mca after B.sc (general)/ mca after PCM :

अगर ग्रेजुएशन में आप बीएससी कर रहे है या पूरी की है, जिसमे फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ सब्जेक्ट थे. तो आप mca कर सकते है.
इसके लिए भी वही ऊपर बताया क्राइटेरिया है, और साथ में mca CET देनी होगी.

MCA after commerce-कॉमर्स के बाद mca कर सकते है?

जी हा,कॉमर्स फिल्ड से ग्रेजुएशन किया है तो आप आगे mca में मास्टर कर सकते है. क्राइटेरिया ऊपर जो बताया है वही रहेगा.

MCA कम्पलीट करने के बाद जॉब कहा मिलेगा?

mca पूरा करने के बाद अगर आपके पास प्रोग्रामिंग में अच्छी पकड़ है जो आप अच्छी मल्टीनेशनल आईटी कंपनी में जॉब मिल सकती है.जैसे  Wipro, Tech Mahindra, TCS, Infosys etc.


Salary after MCA: सैलरी कितनी मिलेगी.
सैलरी आपको अपने पद, प्रोग्रामिंग नॉलेज और कंपनी के अनुसार मिलेगी. याने अगर Wipro, Tech Mahindra, TCS इन जैसे मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब मिलता है जो 30-50K (Rs.30000-Rs.50000) salary मिल सकती है.
Computer संख्या प्रणाली क्या है- What is computer Number System

Computer संख्या प्रणाली क्या है- What is computer Number System

कंप्यूटर संख्या प्रणाली क्या है? Computer Number System In Hindi.Computer Nu mber system Ki Jankari. बाइनरी संख्या प्रणाली,अष्टाधारी संख्या प्रणाली और हेक्साडेसिमल संख्या प्रणाली क्या है?
संख्या प्रणाली क्या है

जिस प्रकार हम एक दुसरे से बात करने के लिए भाषा का प्रयोग करते है. हमारे भाषा में अंक, अक्षर होते है. अब बात करते है कंप्यूटर की. कंप्यूटर हमारी इस भाषा को समज नहीं पाता है.

Computer को हम जो भी Input देते है, वो नंबर सिस्टम याने (बाइनरी 0,1 ) के रूप में कंप्यूटर तक पहुचाया जाता है.

जब हम कुछ अक्षर या शब्द लिखते हैं, तो कंप्यूटर उन्हें संख्याओं में translate करते हैं क्योंकि कंप्यूटर केवल संख्याओं को समझ सकते हैं.
Computer number system में हर के अंक, अक्षर, चिन्ह को संख्या में बदल देता है, और इसको कंप्यूटर समज पाता है.

Computer number system

कंप्यूटर में 4 प्रकार की नंबर सिस्टम इस्तमाल की जाती है.
1. Binary Number system
2. Octal number system
3. Decimal number system
4. Hexadecimal number system

1. Binary Number System:

बाइनरी नंबर सिस्टम – इसमें सिर्फ 2 ही डिजिट 0,1 (अंक) का प्रयोग किया जाता है .
0 OR 1 को Bit कहा जाता है. इस संख्या प्रणाली को base 2 number system भी कहा जाता है.
4 bit को nibble कहा जाता है. E.g. 0110
8 Bit के समूह को बाइट कहा जाता है. e.g. 01011101

Decimal Number          Binary Number
0                                    000
1                                     001
2                                     010
3                                     011    
4                                    100   
5                                     101
6                                     110
7                                     111
8                                     1000
9                                     1001
10                                   1010

बाइनरी को डेसीमल में कैसे कन्वर्ट करे :
e.g. 101100
Step 1: 1 x 25+0x24+1x23+1x22+0x21+0x20
Step 2 : 1x32 + 0x16 + 1x8 + 1x4 + 0x2 + 0x1 = 32 + 0 + 8 + 4 + 0 + 0
Step 3: 44
(101100)2 = (44)10

2. Octal number system- ऑक्टल नंबर सिस्टम:

इस नंबर प्रणाली में सिर्फ 8 डिजिट का प्रायोग होता है . इसमें (0,1,2,3,4,5,6,7) इन 8 डिजिट का इस्तमाल किया जाता है. इसी वजह से इसका base 8 है. याने ऑक्टल नंबर सिस्टम में अंक लिखते समय base 8 लगाते है.



3. Decimal number system- डेसीमल नंबर सिस्टम

इस नंबर प्रणाली में 10 डिजिट का इस्तमाल होता है. डेसीमल नंबर सिस्टम में (0,1,2,3,4,5,6,7,8,9) का use होता है इसलिए इसका base 10 है.
इस संख्या प्रणाली को हम अपनी डेली लाइफ में इस्तमाल करते है.

4. Hexadecimal number system- हेक्साडेसीमल नंबर सिस्टम:


इसमें 16 डिजिट जिसमे 10 digits and 6 letters, 0, 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, A, B, C, D, E, F का इस्तमाल किया जाता है. इसलिए इस नंबर सिस्टम का base 16 है.
इसमें जो आगे के Letters है वो represent  किया जाते है इस तरह A = 10. B = 11, C = 12, D = 13, E = 14, F = 15

तो कंप्यूटर इस तरह की नंबर सिस्टम का प्रयोग किया जाता है.

सभी crypto currency की जानकारी – All Top Crypto currency

सभी crypto currency की जानकारी – All Top Crypto currency

All top crypto currency information in Hindi. हेल्लो दोस्तों क्या आप क्रिप्टो करेंसी के बारे में जानना चाहते है. आज इन्टरनेट पर सबसे ट्रेडिंग टॉपिक देखा जाए तो इसी का है.

Litcoin, ethereum, Ripple Kya hai.

All Top Crypto currency In Hindi:

1. Bitcoin:

Bitcoin क्या है? बिटकॉइन की कीमत कितनी है? India में Bitcoin Buy Sell कहा किए जाते है? बिटकॉइन अकाउंट कैसे बनाए. Bitcoin एड्रेस कहा मिलेगा?
ये कुछ सामान्य सवाल है जो हर किसी नए यूजर के मुह से निकलते है.

Bitcoin क्या है : बिटकॉइन एक digital cryptocurrency है.

बिटकॉइन की कीमत कितनी है: आज बिटकॉइन की कीमत 1127145.29 Indian Rupee है.

India में Bitcoin Buy Sell कहा किए जाते है : इंडिया में बिटकॉइन buy और sell करने के लिए Unocoin, zebpay बेस्ट है.

बिटकॉइन अकाउंट कैसे बनाए. Bitcoin एड्रेस कहा मिलेगा : बिटकॉइन एड्रेस हमे Unocoin, zebpay से मिलता है.

2. Lite coin:

Lite Coin क्या है?
Lite Coin क्या है

लाइटकॉइन एक बिटकॉइन से उत्पन्न कई क्लोन cryptocurrencies में से एक है. जहा बिटकॉइन के transaction को 10 मिनट लगते है वही लाइटकॉइन के transaction में सिर्फ 2.5 मिनट लगते है.

Litecoin Current Price:
Litecoin today Price (13-12-2017) $316 है.
लाइटकॉइन एड्रेस कैसे और कहा से मिलेगा:
Litecoin का एड्रेस आपको coinbase से मिलेगा.

3. Ethereum
Ethereum

Crypto currency में सबसे पोपुलर फर्स्ट रैंक पर है बिटकॉइन तो वही दुसरे नंबर पर है Ethereum.
Ethereum के बारे में पूरी डिटेल्स में हम आगे आने वाली पोस्ट में बात करने वाले है. ईथरउम की करंट प्राइस है Ethereum Price =$686.96

4. Ripple:
ripple in hindi

Ripple Crypto currency के rank 4 पर है. रिप्पल की कीमत आज याने दिसम्बर 13 को $0.4635 याने हाफ डॉलर है. लेकिन ये बहुत ही फ़ास्ट ग्रोथ कर रही है.

आने वाले आर्टिकल में हम रिप्पल के बारे में पूरी डिटेल्स में हम बात करेंगे.
वैसे तो और भी क्रिप्टोकरेंसी है जिसके नाम और रैंक के बारे में हम बता रहे है.
Cryptocurrency              Rank                      Price
1. Bitcoin                       Rank 1                    $16,956
2. Etherenum                Rank 2                    $666
3. Bitcoin Cash             Rank 3                   $1568
4. Ripple                       Rank 4                   $0.47
5. Lite coin                    Rank 5                    $303

आपके कुछ सवाल हो तो आप निचे कमेंट में हम से पूछ सकते है.

Interview में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न – Job Interview Question & Answers

Interview में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न – Job Interview Question & Answers

Interview याने साक्षात्कार के प्रश्न, Frequently Asked Questions in Job Interview तो चलिए इसके बारे में पुरे विस्तार से जानते है.

साक्षात्कार के प्रश्न

अगर आप भी कही नौकरी के लिए जा रहे है तो आपको वहा पर Interview देना पड़ता है. एसे में हम यही सोचते है की हमे क्या सवाल, प्रश्न पूछे जाएंगे.

Interview में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न और उनके जवाब :

1. Tell me about yourself- अपने बारे में बताए:

हर एक इंटरव्यू की शुरवात इसी सवाल से होती है. इसका जवाब में हमे अपने बारे में जानकारी देनी है.
जैसे हमारा नाम, हमारा एजुकेशन आदि. अपने पुराने काम के बारे में बताए.

2. Why should we hire you-हमें आपको निवुक्त क्यों करे/ जॉब क्यों दे?

इसके जवाब में हमे बताना होगा की हम इस जॉब के लिए क्यों बेस्ट है.
हम कह सकते है की हमारे पास वो skills/education है जो आप चाहते है, अगर आपने आपकी reputed कंपनी में जॉब करने का मौका दिया तो, में इसके लिए अपना बेस्ट एफ्फेर्ट दूंगा.

3. How do you handle stress and pressure- आप काम के प्रेशर और ट्रेस को कैसे हैंडल करेंगे?

इस सवाल का उत्तर देने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि एक उदाहरण देना चाहिए कि आपने पिछली नौकरी में तनाव कैसे संभाला है.
इस तरह, साक्षात्कारकर्ता यह स्पष्ट तस्वीर प्राप्त कर सकता है कि आप तनावपूर्ण परिस्थितियों में कितनी अच्छी तरह काम करते हैं.
Pressure मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है. जैसे कि काम करने के लिए बहुत सारे कार्य या आने वाली डेडलाइन, मुझे प्रेरित और motivated रहने में मदद करता है.

Also Read:
         ·        RAS Officer कैसे बने

4. What is your greatest strength-आपकी सबसे बड़ी ताकत क्या है?

यहाँ पर ताकत का मतलब है, आपके पास एसी कौन सी चीज़ है जो आपको औरो से बेहतर बनाती है.
अपनी खूबी को यहाँ पर बताए.

5. What is your greatest weakness-आपकी सबसे बड़ी कमजोरी क्या है?

हर किसी की कोई ना कोई कमजोरी होती है. एक कर्मचारी के रूप में अपने कौशल और क्षमताओं
में आपके पास कोई कमी नहीं होने चाहिए.

उन कौशलों पर चर्चा करे जो आपने पिछली नौकरी के दौरान सुधार किया है, इसलिए आप साक्षात्कारकर्ता को दिखा रहे हैं कि जब आवश्यक हो तुम सुधार कर सकते हो.

6. What are your salary expectations-आपको कितने वेतन की उम्मीद है?
अगर आप फ्रेशर है तो आपको कभी भी सैलरी के बारे में नहीं बताए. जो कंपनी का फ्रेशर के लिए सैलरी स्ट्रक्चर है वही सही रहेगा.आपके पास एक्सपीरियंस है तो, आप अपने पुराने जॉब की सैलरी के बारे में बता सकते है.

7. Why are you left your old job-आप अपनी पुरानी नौकरी क्यों छोड़ रहे हैं?
यहाँ पर आपको एक रीज़न बताना होगा. की आप अपना पुराना जॉब क्यों छोड़ रहे है.
आप बता सकते है ट्रांसपोर्ट का दिक्कत था या तबियत सही नहीं थी.आपको कुछ ठोस कारण यहाँ पर बताना पड़ेगा.

तो ये कुछ क्वेश्चन होते है जो हर के प्रकार के इंटरव्यू में पूछे जाते है.

VoIP (Voice over Internet Protocol) In Hindi

VoIP (Voice over Internet Protocol) In Hindi

VOIP क्या है? VoIP का इस्तमाल किस लिए किया जाता है, तो चलिए जानते है. VOIP का फुल फॉर्म है वौइस् ओवर इन्टरनेट प्रोटोकॉल.

VOIP full form in computer hindi

Voip Full Form In Computer- Voice over Internet Protocol

VOIP का सीधा साधा मतलब है, IP (इन्टरनेट प्रोटोकॉल) की मदद से voice को ट्रान्सफर किया जाता है.


इससे पहले हम इन्टरनेट का इस्तमाल सिर्फ सिर्फ ईमेल के लिए, डाटा ट्रान्सफर के लिए किया जाता था. लेकिन आज बदलती Technology के चलते हम VoIP की मदद से वौइस् को भी ट्रान्सफर कर सकते है.
Voice को data packets में डिवाइड कर के इन्टरनेट प्रोटोकॉल द्वारा इसको एक जगह से दूसरी जगह भेज दिया जाता है.

VOIP services का इस्तमाल कर के हम Local telephone number, Or international telephone number पर कॉल करने की सुविधा प्रोवाइड करती है.

VOIP services हम अपने कंप्यूटर, VoIP Phones या फिर अपने फ़ोन पर (voip एडाप्टर से ) भी इस्तमाल कर सकते है.

VoIP का इस्तमाल करने के लिए क्या क्या चीज़े जरुरी है?

वौइस् ओवर इन्टरनेट प्रोटोकल का इस्तमाल करने के लिए हमारे पास कंप्यूटर,  High speed internet connection, VOIP Phones, VoIP Adapter, Headphones, VOIP सॉफ्टवेयर  इनकी जरुरत पड़ती है.



जहा से हम कंप्यूटर से कंप्यूटर पर वौइस् कालिंग कर सकते है. या फिर कंप्यूटर से VOIP Phones फ़ोन पर भी कॉल कर सकते है.

Also Read this:

VoIP Advantages:

1. Low cost:
Voip सेटअप के लिए बहुत की कम पैसे लगते है क्यों की इसमें सिर्फ इन्टरनेट कनेक्शन की जरुरत पड़ती है.

2. Accessibility:
VOIP में लोकेशन, डिस्टेंस का किसी का कोई प्रभाव नहीं होता है. याने देश के किसी भी कोने से हम VOIP द्वारा कॉल कर सकते है.

3. Good Quality
अगर आपके पास अच्छी इन्टरनेट स्पीड है तो वौइस् की क्वालिटी हमेशा अच्छी मिलेगी.

VoIP Disadvantages:

1. Internet connection is must:
इसके लिए इन्टरनेट का होना अनिवार्य है. बिना इन्टरनेट कनेक्शन के हम VOIP सर्विसेज नहीं इस्तमाल कर सकते.
2. Data is most important:
कभी कभी डाटा हैक होने की संभावना होती है.

VOIP का whatsapp calling ये रीसेंट example है. जिसमे VOIP टेक्नोलॉजी का इस्तमाल होता है इसी वजह से हमे कालिंग के लिए पैसे नहीं देने पड़ते है. क्यों की वौइस् को VOIP द्वारा ट्रांसमिट किया जाता है.