कंप्यूटर और इन्टरनेट जगत से जुड़े कुछ टेकनिकल वर्ड

आज दिन ब दिन इन्टरनेट और कंप्यूटर का इस्तमाल बड़ता ही जा रहा है, इस बदलती दुनिया में हमे हर रोज कोई न कोई नया शब्द सुनने को मिलता है. तो आज हम ऊनी टेकनिकल वर्ड के बारे में जानते है, की उस वर्ड का मतलब क्या है, और ये क्यों इस्तमाल किया जाता है.
Computer aur internet world and terms

ये जो वर्ड है, इनका मतलब हर एक इन्टरनेट इस्तमाल करने के वाले को पता होना जरुरी है. क्यों इस तरह के वर्ड हमारे डेली लाइफ में use होते है.

कंप्यूटर और इन्टरनेट जगत से जुड़े कुछ टेकनिकल वर्ड :

1. ASCII (American Standard Code For Information Interchange):
इसको आस्की एसा कहा जाता है, ये एक इंटरनेशनल स्टैण्डर्ड है, जो नंबर, लैटर, सिंबल को दरसाने के लिए ० तो २७ तक के नंबर का इस्तमाल किया जाता है. इस तरह का टेक्स्ट हम किसी भी network, प्लेटफार्म पर इस्तमाल कर सकते है.

2. Binary:
बाइनरी एक नंबर सिस्टम है, computer को हमारी भाषा समज में नहीं आती है, वो बाइनरी नंबर सिस्टम को ही अंडरस्टैंड कर सकता है, इसमे सिर्फ 2 ही डिजिट होते है, ० और 1 जीने बिट कहा जाता है.

3.Browser :
जब भी इन्टरनेट की बात आती है, तब ये वर्ड हमे सुनने को मिलता है. ब्राउज़र याने एक सॉफ्टवेर होता है, जिसका इस्तमाल इन्टरनेट से जुड़ने के लिए होता है. ब्राउज़र की मदद से हम इन्टरनेट चला सकते है, किसी भी वेबसाइट को विजिट कर सकते है. अगर हमारे computer, मोबाइल में ब्राउज़र नहीं है, तो हम इन्टरनेट का इस्तमाल नहीं कर सकते.
उदहारण:
computer के लिए : mozilla firefox, google chrome, internet exploror
मोबाइल के लिए: uc web browser, opera mini



4. client:
जिस computer के जरिए हम रिक्वेस्ट भेजते है, उसको client कहा जाता है, याने किसी network में हम जो अलग अलग computer use करते है, उसको client कहा जाता है, और जो main computer सबको सर्विसेज देता है, उसको हम सर्वर कहते है.

5. Cyberspace :
साइबर स्पेस एक बहुत ही बड़ी टर्म है, साइबर स्पेस याने computer, इन्टरनेट और, सभी इलेक्ट्रॉनिक चीज़े इन का संबंद आता है.

6. Cyber Crime:
इन्टरनेट, computer, इलेक्ट्रॉनिक चीज़े के जरिए, या उनसे रिलेटेड, कोई भी गुना साइबर क्राइम कहा जाता है.
याने किसी का पर्सनल डाटा चोरी करना etc.


7. Downloading:
एक इलेक्ट्रॉनिक चीज़ से दूसरी इलेक्ट्रॉनिक चीज़ में डाटा ट्रान्सफर करने को ही डाउनलोडिंग कहा जाता है.
इन्टरनेट पर ये टर्म इसलिए use होती है, की इन्टरनेट पर जो डाटा होता है, उसको हम अपने मोबाइल और computer में ट्रान्सफर करते है, इसको डाउनलोड कहा जाता है.



8. Email (Electronic Mail):
इसको हम अपने डेली लाइफ में इस्तमाल करते है. ईमेल याने इलेक्ट्रॉनिक मेसेज को एक यूजर से दुसरे यूजर को ट्रान्सफर करना होता है.
पोपुलर ईमेल प्रोवाइडर:
गीमेल, याहू मेल, रीडिफ़ मेल


9. FAQ’S ( Frequently Asked Question):
किसी भी वेबसाइट पर आपको उस वेबसाइट से रिलेटेड FAQ’S देखने को मिलते है. FAQ’S याने हाल में पूछे गए सवाल. याने किसी भी वेबसाइट पर अगर हम कुछ प्रॉब्लम हो तो हम उससे रिलेटेड क्वेश्चन पूछ सकते है, एसा इसलिए किया जाता है, क्यों की न्यू यूजर का टाइम सेव हो जाए,

10. Firewall:
फ़ायरवॉल इसे हम computer पोलिस कह सकते है. जब भी हम डाटा को इन्टरनेट पर सेंड या रिसीव करते है, तो फ़ायरवॉल इसके बिच में सिक्यूरिटी का काम करता है.

11. FTP(File Transfer Protocol):
ये एक प्रोटोकॉल है, जिसका इस्तमाल फाइल को सेंड करने के लिए किया जाता है.

12. GIF( Graphics Interchange Format )
इमेज का ये स्टैण्डर्ड फॉर्मेट है. gif इमेज आम तौर एनीमेशन इमेज होती है, जो हिलती हुई दिखाई देती है.

13. Homepage :
जब भी हम ब्राउज़र ओपन करते है, तो हमारे सामने जो पेज खुलता है, उसको ही होमपेज कहा जाता है.

14. HTML (Hypertext Markup Language ):
html एक वेबपेज डिजाईन करने की भाषा है. इसके जरिए हम static और dynamic दोनों तरह के webpage डिजाईन कर सकते है.


15. HTTP( Hypertext transfer Protocol):
ये प्रोटोकल इन्टरनेट पर जो document, इनफार्मेशन है, उसको एक्सेस करने के लिए इस्तमाल किया जाता है.

16. OTP (One TIme Password ):
वन टाइम पासवर्ड याने एक पासवर्ड होता है, जो सिक्यूरिटी के लिए भेजा जाता है. ये पासवर्ड कुछ ही सेकंड, या मिनट के लिए होता है, और ये एक ही बार इस्तमाल होता है.



इसके आगे के टर्म्स हम जल्द ही अपडेट करने वाले है, अगर आपको भी कोई टर्म पता नहीं है, जो आप जानना चाहते है, वो आप हम कमेंट में suggest कर सकते है.

Author:

Professional Bloggger and Author of Hindimeearn.com Completed Master Degree in Computer Science.Passionate about Blogging,Make Money and Web-Designing.Best Knowledge of HTML,PHP,.NET,C,C++ and other programming languages. Know More About Me...

Follow Us :


Related Posts
Previous
« Prev Post

2 comments

23 September 2016 at 22:44

bro aapne bahut hi badhiya jankari di hai. ye jo aapne likha hai, computer sirf 0 aur 1 ko hi samajhta hai. ye bilkul sahi hai. computer ki bhasha n hi manushy samajh sakta hai aur manushy ki bhasha computer samajh sakta hai.

Reply
avatar
23 September 2016 at 22:49

@ धन्यवाद शीतल :)

Reply
avatar