08/01/2019

मकर संक्रांति क्यों मनाते है - Makar Sankranti In Hindi


मकर संक्रांति 2019, मकर संक्रांति क्यों मनाते है :मकर संक्रांति का महत्व क्या है इसके बारे में आज हम आपको जानकरी देने वाले है |

मकर संक्रांति क्यों मनाते है - Makar Sankranti In Hindi
मकर संक्रांति क्यों मनाते है - Makar Sankranti In Hindi

भारतीयों में अलग-अलग राज्यों, शहरों और गांवों में वहां की परंपराओं के अनुसार मकर संक्रांति त्यौहार मनाया जाता है |

Makar Sankranti In Hindi

पौष मास के शुक्ल पक्ष में मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है | सूर्य का मकर राशि में प्रवेश करना ही मकर संक्रांति कहलाता है | इसी दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाता है |

इस दिन स्नान, दान, तप, जप, का अत्यधिक महत्व है | एसा कहा जाता है की इस अवसर पर किया गया दान सौ गुना होकर प्राप्त होता है |
मकर संक्रांति के दिन सूर्य के एक राशि से दूसरे राशि में परिवर्तित होता है | इसी दिन अंधकार से प्रकाश की ओर हुआ परिवर्तन माना जाता है |  मकर-संक्रांति से दिन बढऩे लगता है और रात की अवधि कम होती जाती है | इसलिए हिंदू धर्म में मकर संक्रांति मनाने का विशेष महत्व है |

हर साल यह त्योहार जनवरी माह के चौदहवें या पन्द्रहवें दिन ही पड़ता है | मकर संक्रान्ति पर्व को कहीं-कहीं उत्तरायणी भी कहा जाता है |

तमिलनाडु में इसे पोंगल नामक उत्सव के रूप में मनाते हैं जबकि कर्नाटक, केरल तथा आंध्र प्रदेश में इसे संक्रांति नाम से जाना जाता है |

Read This:

अलग अलग राज्य में मकर संक्रांति का त्योहार :

महाराष्ट्र : लोग गजक और तिल के लड्डू खाते हैं और एक दूसरे को भेंट देकर शुभकामनाएं देते हैं |
महाराष्ट्र में इस दिन सभी विवाहित महिलाएँ अपनी पहली संक्रान्ति तील और गूढ़ के साथ छोटी छोटी चीजें अन्य सुहागिन महिलाओं को दान करती हैं|


लोग एक दूसरे को तिल गुड़ देते हैं और देते समय बोलते हैं -"लिळ गूळ ध्या आणि गोड़ गोड़ बोला" |

उत्तर प्रदेश : मकर संक्रांति को खिचड़ी पर्व कहा जाता है | सूर्य की पूजा की जाती है |

कश्मीर घाटी: शिशुर सेंक्रात के नाम से इसको मनाया जाता है |

असम : भोगली बिहू के नाम से इस पर्व को जाना जाता है |

गुजरात और राजस्थान : उत्तरायण पर्व के रूप में मनाया जाता है | पतंग उत्सव का आयोजन किया जाता है |

आंध्रप्रदेश : संक्रांति के नाम से तीन दिन का पर्व मनाया जाता है |

तमिलनाडु :  यह पर्व ताई पोंगल के नाम से मनाया जाता है |

पश्चिम बंगाल : हुगली नदी पर गंगा सागर मेले का आयोजन किया जाता है |

पंजाब : एक दिन पूर्व लोहड़ी पर्व के रूप में मनाया जाता है |

कर्नाटक : मकर संक्रमण के नाम से यह त्यौहार मनाया जाता है |

Similar Articles:

कैसे मानते है Makar Sankranti

अन्य त्योहारों की तरह लोग अब इस त्यौहार पर भी मोबाइल-सन्देश एक दूसरे को भेजते हैं| whatsapp, फेसबुक पर एक दुसरे को मकर संक्रांति की बधाईया देते है | इसके अलावा सुन्दर व आकर्षक बधाई-कार्ड भेजते है | इसी दिन पतंगों से सारा आकाश भरा पड़ा है |


Author:

Completed Master Degree in Computer Science.Passionate about Blogging,Make Money and Web-Designing.Best Knowledge of HTML,PHP,.NET,C,C++ and other programming languages. Know More About Me...

0 comments: